● *खरसिया पुलिस आरोपियों को घटनास्थल ले जाकर कराई घटना रीक्रिएट*…

रायगढ़ (अनिल आहूजा वायरलेस न्यूज़ 22.02.21) को खरसिया क्षेत्र के चर्चित शिवांश अपहरण मामले के गिरफ्तार आरोपी 1- खिलावन दास महंत उर्फ निखिल (उम्र 28 वर्ष) निवासी सरवानी थाना बाराद्वार जिला जांजगीर चांपा 2- अमर दास महंत पिता सुरती दास महंत उम्र 23 वर्ष एवं 3- संजय सिदार पिता छेदीलाल सिदार 30 वर्ष दोनों नवापारा खरसिया से विवेचना टीम द्वारा घटना को लेकर पुन: पूछताछ किया गया जिसमें नए तथ्य उजागर हुए । मुख्य आरोपी खिलावन दास महंत उर्फ निखिल ने बताया कि बालक शिवांश को मोटरसाइकिल में बिठाकर अपने तय योजना अनुसार *बंधुवा तालाब* के पास पहुंचा और और अपरहरण में शामिल अमर दास महंत के भाई *प्रीतम महंत* को बुलाकर बाइक उसे दिया और शिवांश को लेकर अर्टिका कार के पास पहुंचा, जहां उसका अर्टिगा कार में इंतजार कर रहे आरोपी अमर दास महंत, संजय सिदार के साथ बच्चे को कार में बिठाकर रांची झारखंड की ओर रवाना हुआ । अमर दास महंत का भाई अपहरण की साजिश से वाकिफ होते हुए घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल को छिपाने एवं साक्ष्य नष्ट करने के उद्देश्य से मोटरसाइकिल के पीछे की नंबर प्लेट को हटाकर तथा सामने के नंबर प्लेट में स्क्रैच कर बंजारी (अडभार) अपने रिश्तेदार मानिक दास के यहां छोड़ कर चला आया ताकि पुलिस व किसी अन्य व्यक्ति को उस पर शक न जावे । आरोपी खिलावन दास महंत के मेमोरेडंम पर मिली जानकारी के बाद उक्त बाइक को बंजारी से बरामद किया गया है । मामले में साक्षी विलोपन करने पाया जाने पर धारा 201 भादवि जोड़ी गई तथा आरोपी प्रीतम दास महंत पिता सुरती दास महंत उम्र 20 वर्ष निवासी नवापारा खरसिया को गिरफ्तार किया गया है ।

साथ ही आज खरसिया पुलिस ने आरोपियों द्वारा घटना में किन-किन मार्गों का प्रयोग किया गया तथा किस प्रकार घटना को अंजाम दिया गया था , इसके लिये आरोपियों को कड़ी सुरक्षा में लेकर उनके बताये अनुसार घटना का रीक्रिएट कराया गया । इस दौरान आरोपियों ने बताया कि वे किन-किन मार्गों का प्रयोग किये थे, जिसके बाद चारों आरोपियों को थाना खरसिया के अप.क्र.104/2021 धारा 364-ए, 368, 120(B), 34 IPC , 25 Arms Act + 201 भादंवि में गिरफ्तारी दर्ज कर माननीय न्यायालय पेश किया गया जहां उनके जेल वारंट जारी होने पर उन्हें जेल दाखिल किया गया है । खरसिया पुलिस आरोपियों के इस जघन्य अपराध पर उन्हें कड़ी से कड़ी सजा दिलाने हेतु हर एक पहलुओं पर सूक्ष्मता से जांच- विवेचना की जा रही है ।

एसपी संतोष सिंह बताये कि इस सनसनीखेज घटना की सूचना पाते ही पुलिस गंभीर हो गई थी। घर परिवार के लोगों के साथ सभी बच्चे शिवांश की सलामती की दुआ मांग रहे थे । वहीं रायगढ़ पुलिस की भी पहली प्राथमिकता बच्चे को सकुशल बरामद करने की थी । सफलता के बाद बधाइयों का दौर जारी है। सीएम और गृहमंत्री के साथ कैबिनेट मंत्री एवं खरसिया विधायक श्री उमेश पटेल जो ऑपरेशन के दौरान बच्चे की वापसी के लिए चिंतित थे उन्होंने सफलता के लिए खरसिया पुलिस को बधाई दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *